ऐतिहासिक कार्यक्रम में 13 जोड़े बंधे परिणय सूत्र में

पीपाजी छा़त्रावास में हुआ श्री पीपा क्षत्रिय समाज के द्वितीय सामूहिक विवाह महोत्सव का आयोजन

0
121

बाड़मेर

गूंजती शहनाइयों एवं हजारों लोगों की मौजूदगी में अग्नि को साक्षी मानकर सजे मंडपों में 13 जोड़ों ने जन्म-जन्मांतर साथ रहने की कसमें खायी। मौका था रविवार को न्यू कवास स्थित पीपाजी छात्रावास में श्री पीपा क्षत्रिय समाज के द्वितीय सामूहिक विवाह महोत्सव का। समाज के साथ ही संत श्री पीपाजी जनकल्याण समिति बाड़मेर एवं श्री पीपा क्षत्रिय विकास संस्थान चौहटन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित समारोह में उत्साह एवं खुषी के माहौल में विवाह संस्कार के समस्त कार्यक्रम संपन्न हुए। समाज अध्यक्ष औंकारसिंह चावड़ा ने बताया कि वसंत पंचमी के अवसर पर आयोजित समूह लग्न में नषावृत्ति पर पूर्णतः रोक रही। शादियों में बढ़ रहे अनावष्यक खर्च, देखा-देखी ज्यादा खर्च करने की प्रवृत्ति एव ंदहेज जैसी घातक बीमारी के अंत के लिए समाज के लोगों ने कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।

सामूहिकता रही शानदार

निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार रविवार सुबह 6 बजे सभी 13 वर यात्राएं छात्रावास परिसर पहुंची। जहां पहले से मौजूद वधू पक्ष द्वारा समाज प्रतिनिधियों के साथ स्वागत की रस्म अदा की गई। जिसके पष्चात् पंडितों के द्वारा विधि-विधान के साथ सामेला, तोरण, आरती, हथलेवा आदि कार्यक्रम करवाए गए। इसके बाद सजे-धजे मंडपों में शुभ मुहूर्त में पाणिग्रहण संस्कार करवाया गया। अंत में सामूहिक वरमाला कार्यक्रम मंच पर हुआ।

एएसपी ने दिलाई नवयुगलों को यातायात नियमों की शपथ

समूह लग्न आयोजन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नाजिम अली भी नवयुगलों को आषीर्वाद देने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने वर-वधुओं सहित उपस्थित समस्त लोगों कोयातायात नियमों के पालन की शपथ दिलाई। उन्होंने सभी को समाज के आराध्य गुरु संत पीपाजी महाराज की सौगंध दिलाते हुए कहा कि कभी भी बिना हेलमेट दुपहिया वाहन नहीं चलावें। वहीं शराब का सेवन नहीं करें। इस पर उपस्थित सभी लोगों ने करतल ध्वनि के साथ एएसपी अली को यातायात नियमों का पालन करने का भरोसा दिलाया।

वक्ताओं ने की सराहना

कार्यक्रम में एलआईसी के मंडल प्रबंधक पी.डी. दईया, महिला अधिकारिता के उप निदेषक अषोक गोयल, सहायक वाणिज्यिक कर अधिकारी पुखराज टेलर, पषु चिकित्सक डॉ आदाराम दर्जी, प्रधानाचार्य भवेंद्र गोयल होडू सहित कई वक्ताओं ने सामूहिक विवाह आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि ऐसे आयोजन से समाज को नई दिषा मिलती है। युवा वर्ग को आगे आकर जनजागरण करना होगा, इससे समाज षिक्षित होगा।

स्वागत से लेकर विदाई तक रहा खास

शाम 5 बजे सामूहिक विदाई कार्यक्रम हुआ। इसमें सभी जोड़ों को विवाह संस्कार प्रमाण-पत्र, स्मृति चिह्न एवं श्रीफल दिया गया। वहीं कार्यक्रम में भामाषाहों, उपहारदाताओं एवं कार्यकर्ताओं का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में श्री पीपा क्षत्रिय महिला मंडल, युवा मित्र मंडल, ढाट युवा मंडल, श्री पीपा टाइगर फोर्स, समाज विकास युवा संस्थान सहित कई संगठनों के कार्यकर्ताओं ने व्यवस्थाओं में सहयोग दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here