बाबा रामदेव ने की स्वामी प्रतापुरी की तारीफ, बोले जंगल मे किया मंगल

0
2038
बाड़मेर। 
राजस्थान के बाड़मेर में स्थित धार्मिक नगरी तारातरा में चल रहे भव्य भंडारे में शुक्रवार को योगगुरु बाबा रामदेव और आचार्य महामंडलेश्वर अवद्येशानन्द गिरी महाराज ने शिरकत की। तारातरा मठ की तरफ से आयोजित किये जा रहे आयोजनों की कड़ी में शुक्रवार को भव्य शोभायात्रा के साथ सन्त समागम का आयोजन किया गया। जिसमें देश भर से विभिन्न मठो और सम्प्रदायो से जुड़े सन्त एवम मठाधीश पँहुचे। सन्त समागम से पूर्व योगगुरु बाबा रामदेव और आचार्य महामंडलेश्वर अवद्येशानन्द गिरी महाराज का तारातरा पहुँचने पर भव्य स्वागत किया गया। उतरलाई से सड़क मार्ग से दोनो तारातरा पँहुचे थे। दोनो ने मठ में स्थित विभिन्न समाधियों के दर्शन किये और पूजा अर्चना की। मठ के दर्शन करने के बाद योगगुरु बाबा रामदेव और आचार्य महामंडलेश्वर अवद्येशानन्द गिरी महाराज ने संत समागम को सम्बोधित भी किया।
इस दौरान योगगुरु बाबा रामदेव ने स्वामी प्रतापपुरी की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि स्वामी प्रतापुरी ने जंगल मे मंगल किया है। उन्होंने कहा वह हरिद्वार से बाड़मेर स्वामी प्रतापपुरी को आशीर्वाद देने आए है। उन्होंने कहा कि तारातरा शक्ति का केंद्र है और यहाँ अब अध्ययन केंद्र बनेगा। इस अवसर पर अवधेशानंद गिरी महाराज और स्वामी रामदेव ने मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के लिए पिछले 4 दिन से संचालित किए जा रहे विशेष यज्ञ में आहुतियां भी दी और विश्व शांति की प्रार्थना की।
बाड़मेर में आयुर्वेदिक औषधियों के भंडार के सवाल पर स्वामी बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि यहाँ स्वामी प्रतापुरी जो कहेंगे उसमे पतंजलि सहयोग करेगी। उन्होंने कहा कि भारत मे धर्म मूल संस्क्रति में है जिसे आगे बढ़ाना होगा। धर्म के नाम पे भृम को उन्होंने बन्द होने की बात कही। जूना पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर अवधेशानंद महाराज ने पंडाल में मौजूद भक्तों को संबोधित करते हुए कहा कि धर्म के लक्षण के लिए इस तरह के आयोजन वर्तमान समय में बेहद आवश्यक है। उन्होंने कहा कि यहां पर महंत प्रतापपुरी द्वारा गुरुकुल एवं नशा मुक्ति केंद्र तथा आयुर्वेद अस्पताल का भविष्य में स्थापना करना क्षेत्र की सेवा के लिए बहुत बड़ा कदम है। उन्होंने कहा कि बाड़मेर की इस तपोस्थली का नाम इन समाज सेवी कार्यों के लिए सदैव आगे बढ़ता रहेगा। बाबा रामदेव और महंत प्रतापपुरी की मित्रता के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव राष्ट्र निर्माण की विभिन्न कार्यों में अति व्यस्त हैं बावजूद इसके वे अपने सखा के निमंत्रण पर तारातरा पहुंचे है जो इनकी मित्रता का सबसे बड़ा उदाहरण है। उन्होंने संत समाज के हजारों लोगों के यहां पहुंचने पर उनका अभिनंदन और स्वागत किया। संत संगम को संबोधित करते हुए राजस्थान के लोकायुक्त सज्जन सिंह कोठारी ने पश्चिमी राजस्थान के महान संत की शिक्षाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पश्चिमी राजस्थान में मोहनपुरी जी महाराज के द्वारा जो धर्म चेतना और समाज सेवा के कार्य किए गए हैं वह विश्व भर में विख्यात है साथ ही उन्होंने कहा कि नशा मुक्ति केंद्र और प्राचीन शिक्षा हेतु गुरुकुल स्थापना मठ का बेहतरीन कार्यक्रम है जो सफल होगा इसके लिए कामना करते हैं।
मारवाड़ी में बोले रामदेव, जीता स्थानीय लोगो का दिल
कार्यक्रम में शिरकत करने आए बाबा रामदेव ने तारातरा मठ पहुंचे। बाबा रामदेव में मोहनपुरी के धूणे पर जाकर धोक लगाई और आशीर्वाद लिया। इस दौरान मठ में पहुंचने पर गादीपति प्रतापपुरी जी महाराज ने उनका स्वागत किया और मठ के इतिहास की जानकारी दी। इस दौरान पंडाल में पहुंचने पर बाबा रामदेव ने अपना उद्बोधन मारवाड़ी और हरियाणा की भाषा मे दिया। जिससे स्थनीय लोग काफी खुश हो गए। बाबा रामदेव ने कार्यक्रम की तारीफ करते हुए कहा कि प्रतापपुरी ने जंगल मे मंगल कर दिया है। बाबा रामदेव ने स्वामी प्रतापपुरी को अपना बाल सखा बताते हुए कहा कि स्वामी प्रतापपुरी बहुत बड़े दिव्य संत है। जिनको मोहनपुरी जैसे भगवान का आशीर्वाद प्राप्त है। बाबा रामदेव ने कहा कि योग और धर्म को हर व्यक्ति को अपने जीवन का अभिन्न हिस्सा बताया।
निकाली शोभायात्रा
बाड़मेर के तारातरा में आयोजित विशाल भंडारे में संत समागम से पहले आयोजित शोभायात्रा में हजारो लोगो ने ढोल तासो के साथ शिरकत की। लोगो ने हाथों में भगवा पताके थामे थे साथ ही विभिन्न मंदिरों में स्थापित होने वाली मूर्तियों को मंदिरों तक पहुँचाया गया। शोभायात्रा में हाथी घोड़े समेत विभिन्न वाहनों पर लोग नाचते झूमते नजर आए।
इन्होंने भी किये मोहनपुरी धुणे के दर्शन
हजारो की तादात में मौजूद लोगों और  देश भर से विभिन्न मठो और सम्प्रदायो से जुड़े सन्त एवम सैकड़ो मठाधिशो के बीच लोकायुक्त एस एस कोठारी, सीकर सांसद सुमेधानंद सरस्वती, भाजपा प्रभारी डॉक्टर महेंद्र सिंह राठौड़, करणी सेना के लोकेंद्र सिंह कालवी, शिव विधायक मानवेन्द्र सिंह जसोल, सांग सिंह भाटी-जैसलमेर, यूआईटी चेयरमैन डॉक्टर प्रियंका चौधरी, हरिसिंह सोढा पूर्व विधायक शिव, मदन प्रजापत पूर्व विधायक पचपदरा, जैसलमेर जिला प्रमुख अंजना मेघवाल, भाजपा जिलाध्यक्ष जालम सिंह रावलोत, सुनीता भाटी पूर्व प्रधान (सम, जैसलमेर) समेत कई लोगो ने शिरकत की।
योग साधना भवन का लोकार्पण
बाड़मेर के निवासी नवल किशोर गोदारा द्वारा निर्मित योग साधना भवन का लोकार्पण अवधेशानंद गिरि महाराज महामंडलेश्वर जूना अखाड़ा योग ऋषि स्वामी रामदेव के द्वारा इस अवसर पर किया गया उन्होंने कहा कि दानदाताओं के द्वारा मठ में विभिन्न सहयोग दिया गया है जो यहां पर भविष्य की विभिन्न योजनाओं की क्रियान्विति के लिए फायदेमंद रहेगा.
दो पुस्तकों का हुआ विमोचन 
इस दौरान आचार्य महामंडलेश्वर अवद्येशानन्द गिरी व योगगुरु बाबा रामदेव द्वारा ब्रह्मलीन महंत मोहनपुरी महाराज के जीवनी पर रचित दो पुस्तकों का विमोचन किया गया। मीडिया प्रवक्ता दुर्गसिंह राजपुरोहित ने बताया कि जिसमे एक पुस्तक ‘मालानी के महादेव मोहनपुरी महाराज’ पुस्तक का लेखन बाड़मेर के वरिष्ठ पत्रकार धर्मसिंह भाटी द्वारा किया गया है। इस पुस्तक मे आस्था से जुडे हुए विभिन्न पहलुओं को सरल भाषा मे बताया गया है। वहीं तारातरा मठ की ऐतिहासिक जानकारियाँ प्रदान की गई हैं। इसमे मठ के आज तक के इतिहास महंतों और चमत्कारों के बारे मे बताया गया है। इसी तरह जैतपुरी जन कल्याण संस्थान तारतरा मठ द्वारा प्रकाशित ‘तपोभूमि तारातरा मठ- दिव्य तीर्थ’ पुस्तक का लेखन व सम्पादन डॉ. बंशीधर तातेड़ व डॉ. लक्ष्मणसिंह गड़ा ने किया है। जिसका भी लोकार्पण इस अवसर पर किया गया।
विशाल भजन संध्या में राजस्थान के प्रसिद्ध गायकों ने की शिरकत, झूम उठे श्रद्धालु
शक्रवार रात भजन संध्या में राजस्थान के प्रसिद्ध कलाकारों ने शिरकत की। जिसमें जोधपुर के मोइनुद्दीन मनचला, कुशल बारहट, गजेंद्र राव, नवरत्नसिंह रावल सहित कई कलाकारों ने दर्शकों को झोमने पर मजबूर कर दिया। वहीं भजन गायक मोईनुद्दीन मनचला द्वारा ब्रह्मलीन महंत मोहनपुरी पर गाये भजनों पर श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए। इस दौरान भजन संध्या में संत महात्माओं सहित हजारों की संख्यां में भक्त उपस्थित रहे।

 

शनिवार को यह होंगे कार्यक्रम
 
गुरुप्रतिमा की स्थापना होगी
पश्चिमी राजस्थान के सबसे बड़े इस महान पवित्रता को भूमि पर मोहन पुरी जी महाराज की प्रतिमा का स्थापना समारोह शनिवार सुबह से प्रारंभ होकर शाम तक चलेगा। बीते 4 दिन से लगातार बाड़मेर के सुप्रसिद्ध ज्योतिष एवं यज्ञाचार्य पंडित गोपाल दवे और उपाचार्य पंडित महेश दवे द्वारा यहां पर हवन पूजन किया जा रहा है। आज शनिवार सुबह यहां पर मोहन पुरी जी महाराज की प्रतिमा का स्थापना समारोह रखा गया है और लाखों लोग इसके गवाह बनेंगे।
मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक होगी। वही 12:00 बजे से संतों का प्रवचन होगा।  वही संत महात्माओं का स्वागत-सत्कार होगा। वहीं आज सूबे की मुखिया वसुंधरा राजे का आना लगभग तय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here