कुपवाड़ा में युवक-युवती की तलाश जारी, नहीं लगा कोई सुराग

0
176

बाड़मेर

सीमावर्ती बाड़मेर निवासी युवती के तथाकथित निकाह व धर्म परिवर्तन के मामले में कोतवाली थाने में दर्ज गुमशुदगी के मामले में स्थानीय पुलिस युवक-युवती की तलाश में जम्मू- कश्मीर में जुटी हुई है। मामले में पुलिस को 22 दिन बाद भी कोई सुराग हाथ नहीं लग पा रहा है। इधर, परिजन युवती की सुरक्षा को लेकर आशंकित हैं।

कोतवाल अमरसिंह रतनु ने बताया कि 21 मार्च को दर्ज गुमशुदगी के मामले में पुलिस पहले भी जम्मू-कश्मीर गई थी। वहां पर जम्मू कश्मीर हाइकोर्ट में युवक-युवती ने शादी के दस्तावेज पेश किए थे। जिसके बाद पुलिस लौट आई। इसके बाद परिजन ने आरोप लगाया था कि हमारी बेटी को षडयंत्र के तहत फंसाया गया है। पुलिस व सरकार से मदद की अपील की।

एक सप्ताह से तलाश

बाड़मेर एसपी ने कुपवाड़ा पुलिस से सम्पर्क के बाद फिर से पुलिस टीम को जम्मू भेजा। पुलिस टीम एक सप्ताह से कुपवाड़ा में कफ्र्यू के बीच तलाश में जुटी हुई है। लेकिन युवक-युवती का सुराग नहीं लगा पाई है। कोतवाली थाने में दर्ज गुमशुदगी के मामले में स्थानीय पुलिस युवक-युवती की तलाश में जम्मू- कश्मीर में जुटी हुई है। मामले में पुलिस को 22 दिन बाद भी कोई सुराग हाथ नहीं लग पा रहा है। इधर, परिजन युवती की सुरक्षा को लेकर आशंकित हैं।

अनहोनी की आशंका?

परिजन का कहना है कि सरकार इस मामले में हमारी मदद करें। उनको चिंता सता रही है कि युवती के साथ किसी तरह की अनहोनी हो सकती है। कोतवाल अमरसिंह रतनु ने बताया कि 21 मार्च को दर्ज गुमशुदगी के मामले में पुलिस पहले भी जम्मू-कश्मीर गई थी। वहां पर जम्मू कश्मीर हाइकोर्ट में युवक-युवती ने शादी के दस्तावेज पेश किए थे। जिसके बाद पुलिस लौट आई। इसके बाद परिजन ने आरोप लगाया था कि हमारी बेटी को षडयंत्र के तहत फंसाया गया है। पुलिस व सरकार से मदद की अपील की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here