कूबड़ माता मंदिर बालेरा तेहरवा वार्षिक पाटोत्सव सम्पन्न

0
34

बाडमेर

बालेरा स्थित कूबड़ माता मंदिर वार्षिक पाटोत्सव ट्रस्ट अध्यक्ष व संरक्षक महामंडलेश्वर महंत निर्मलदास महाराज के सानिध्य में सम्पन हुआ।
मंच संचालक लक्ष्मण सिंह बालेरा ने बताया कि रात्रि में भजन संध्या का आयोजन किया गया जिसमें उदय सिंह फुलासर व गुलाब सिंह बालेरा की पार्टी ने भजनों की सरिता बहा दी।

जागरण से पूर्व चढ़ावे की बोलियां लगाई गई जिसमें मुख्य बोलियां रुग सिंह लंगेरा,नारायण सिंह,अर्जुन सिंह,जबर सिंह,अमरसिंह, जुगतसिंह, हरलालसिंह बालेरा, दलसिंह रड़वा, आंसू सिंह मोहनगढ़ द्वारा ली गई। प्रातः शांति यज्ञ सम्पन्न कराया गया एवम धर्म सभा का आयोजन किया गया जिसमें महंत निर्मलदास,खुशालगिरि, जालमपुरी, बलदेवपुरी का सानिध्य मिला। महंत निर्मलदास ने अपने आशीर्वचन में सनातन धर्म का पालन करने एवं संस्कारयुक्त जीवन जीने की सलाह दी।

पाटोत्सव मेले में मंदिर प्रांगण में पूरे दिन विभिन्न गांवों से आए श्रद्धालुओं की रेलमपेल लगी रही। कार्यक्रम के समापन से पूर्व आम सभा का आयोजन किया गया। जिसमें अगले वार्षिकउत्सव पर मेघावी विद्यार्थियों को पुरस्कृत करने एवं विशाल पांडाल के निर्माण का प्रस्ताव पारित किया गया। मेले के दरम्यान राजगुरु नवयुवक मंडल बालेरा द्वारा मंदिर प्रांगण से सिंह द्वार तक सड़क के दोनों तरफ वृक्ष लगाने का निर्णय किया। इस हेतु सज्जनों ने वित्तीय सहायता देने की घोषणा की। समारोह में भँवरसिंह लुणावास, नारायण सिंह गादेरी, मोहन सिंह मोहनगढ़, विशन सिंह बावतरा, इंद्रसिंह लंगेरा, कैप्टन खुमाणसिंह, तिलोकसिंह रड़वा, अम्बालाल अलबेला, कानसिंह बिसू खुर्द, लक्ष्मण सिंह गेंहू, सरपंच चाँदसिंह बालेरा, खींवराजसिंह, सरपंच टीकम सिंह लखा, देवीसिंह फोगेरा, कौशल सिंह,कान सिंह बालासर, इत्त्यादि समाज के गणमान्य प्रबुद्धजन उपस्थित रहे।

यह भी पढ़े खबर …

चामुण्डा माता मंदिर किराडू का 10वां वार्षिक मेला 17 को

अखिल भारतीय श्री ब्राह्मण स्वर्णकार बाड़मेरा गौत्र की कुलदेवी मां चामुण्डा माता के किराडू स्थित मंदिर का 10वां वार्षिक मेला माघ सुदी तेरस 17 फरवरी को भरेगा। मेले में बाड़मेरा गौत्र के हजारों श्रद्धालु भाग लेंगे और मां चामुण्डा के दरबार में शीश नवाकर धोक लगाएंगे। समिति के अध्यक्ष बाबूलाल सोनी कल्याणपुर ने बताया कि 17 फरवरी को पंडित सुरेंद्र कुमार श्रीमाली के आचार्यत्व में हवन का आयोजन किया जाएगा।

बाड़मेर से किराडू पहुंचने के लिए समाज की ओर से बसों की व्यवस्था की जाएगी। प्रातः 10 बजे शाम 3 बजे तक ढाणी बाजार समाज भवन के पास बसों की व्यवस्था रहेगी। मेले में प्रातः 7 बजे मंत्रोच्चार के साथ माताजी का अभिषेक एवं श्रृंगार, 9 बजे गणेश पूजा, 10 बजे माताजी का हवन, दोपहर 12ः15 बजे माताजी की मुख्य ध्वजा का ध्वजारोहण, 12 बजे एवं शाम 5 बजे माताजी का महाप्रसाद, 1 बजे हवन की पूर्णाहुति, शाम सवा छह बजे माताजी की संध्याकालीन आरती एवं रात 8ः30 बजे रात्रि जागरण का आयोजन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here