स्वाइन फ्लू की डोर टू डोर स्क्रीनिंग का कार्य तीन दिन में पूरा करेंः गुप्ता

कलेवा योजना में अनियमिताओ की शिकायत की जांच के लिए कमेटी गठित

0
64

बाड़मेर।

डोर टू डोर स्वाइन फ्लू की स्क्रीनिंग का कार्य आवश्यक रूप से तीन दिनों में पूरा कर लिया जाए। स्क्रीनिंग एवं उपचार के प्रति विशेष गंभीरता बरतने के साथ स्वाइन फ्लू के लक्षण प्रतीत होने पर संबंधित मरीज को तत्काल टेमी फ्लू दी जाए। जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने सोमवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल में साप्ताहिक समीक्षा बैठक के दौरान विभागीय अधिकारियो को निर्देशित करते हुए यह बात कही।

जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने कहा कि स्वाइन फ्लू की रोकथाम गतिविधियों, उपचार एवं घर-घर स्क्रीनिंग करने के कार्य की प्रभावी मोनेटरिंग के साथ शत-प्रतिशत क्रियान्विति सुनिश्चित की जाए। इसमें किसी तरह कौताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने जिले में स्वाइन फ्लू की स्थिति एवं रोकथाम संबंधित गतिविधियो की विस्तार से जानकारी ली।

जिला कलक्टर गुप्ता ने राजश्री योजना एवं दिव्यांगो को प्रमाण-पत्र जारी करने की प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देश जारी किए कि संबंधित एएनएम को लक्ष्य आवंटित कर आवश्यक दस्तावेज संकलित करवाएं,ताकि लाभार्थियो को प्रथम किश्त जारी की जा सके। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को पिछली साप्ताहिक बैठक में दिव्यांग प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देशो के अनुरूप प्रगति नहीं लाने पर नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

उन्हांेने कहा कि दिव्यांगांे को प्राथमिकता से प्रमाण पत्र जारी किए जाए, ताकि उनको पेंशन समेत अन्य जन कल्याणकारी योजनाआंे का लाभ मिल सके। उन्हांेने सब सेंटरांे पर जांच के लिए उपलब्ध उपकरणांे की उपलब्धता संबंधित सूचना आगामी साप्ताहिक समीक्षा बैठक मंे प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर गुप्ता ने कलेवा योजना संबंधित शिकायत की जांच के लिए जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी एवं कोषाधिकारी की दो सदस्यीय टीम गठित करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान जिला कलक्टर ने जलदाय योजनाआंे की प्रगति की समीक्षा करते हुए हैंडपंप खुदाई के कार्य मंे तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि अगर ठेकेदार सही काम नहीं कर रहे है तो उनको नोटिस जारी किए जाए। उन्हांेने सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम के तहत प्रस्तावित कार्याें के प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसमंे पेयजल से जुड़े कार्याें को प्राथमिकता दी जाए। जिला कलक्टर ने उज्जवला योजना, पालनहार योजना, पेंशन समेत अन्य योजनाआंे की जन कल्याणकारी योजनाआंे की प्रगति की समीक्षा करते हुए विभागीय अधिकारियांे को आवश्यक निर्देश दिए। बैठक के दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कालूराम, कोषाधिकारी दिनेश बारहठ, अधीक्षण अभियंता एम.एल.जाट, डी.पी.सोनी, जिला रसद अधिकारी सुरेन्द्र सिंह राठौड़, महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक श्रीमती सती चौधरी समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

विद्युत कार्य पूर्ण होने संबंधित प्रमाण पत्र देने के निर्देश

जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने निर्देश दिए है कि अधिशाषी अभियंता दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत जिन गांवांे मंे विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण हो चुका है। उनके बारे मंे कार्य पूर्ण होने संबंधित प्रमाण पत्र जारी करें। उनकी ओर से इसकी सत्यता की जांच कराई जाएगी। अगर इस दौरान नियमांे मंे पात्र परिवार विद्युत कनेक्शन से वंचित पाया गया तो संबंधित अधिशाषी अभियंता को चार्जशीट जारी की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here