पूरे प्रदेश में 12 घंटे बंद रहा केबल पर टीवी प्रसारण

पूरे प्रदेश में एक साथ रहा ब्लैक आउट

0
164

बाड़मेर

टीवी स्क्रीन पर ज्ञानवर्द्धन और मनोरंजन महंगा करने की नीति का व्यापक स्तर पर विरोध के चलते गुरूवार को सुबह 8 से रात 8 बजे केबल पर टीवी प्रसारण बंद रहा। इसको लेकर बाड़मेर के केबल आॅपरेटर्स भी विरोध कर रहे है । गुरूवार को पूरे प्रदेश में ब्लैक आउट डे रहा।

केबल यूनियन के अध्यक्ष कन्हैयालाल डलोरा ने प्रेस वार्ता में कहा की ट्राई 1 फरवरी 2019 से पूरे देश में एमआरपी का काला कानून लागू होने वाला है। इसके तहत जो चैनल आप 200 से 250 रूपए में देख रहे हैं, उन चैनल्स के लिए आपको प्रतिमाह 750 से 800 रूपए तक चुकाने होंगे। ट्राई के इस जनविरोधी कानून की खिलाफत को लेकर केबल टीवी आॅपरेटर्स लामबद्ध हो चुके हैं और इस कानून के विरोध में पूरे प्रदेश में  गुरूवार को ब्लैक आउट डे रखा गया। जिसके चलते गुरूवार को सुबह 8 से रात 8 बजे तक 12 घंटे केबल टीवी पर प्रसारण बंद रखा गया ।

बाड़मेर में डीसीएन नेटवर्क पर भी ट्राई के काले कानून का पुरजोर तरीके से विरोध करते हुए ब्लैक आउट डे रखा गया है। बाड़मेर केबल टीवी आॅपरेटर्स यूनियन के अध्यक्ष कन्हैयालाल डलोरा के मुताबिक ट्राई ने काॅर्पोरेट घरानों और डीटीएच कंपनियों को फायदा पहुंचाने के लिए इस कानून को लागू किया है।

एक ओर जहां सरकार व्यापार को बढ़ावा देने की बात कह रही है, वहीं दूसरी ओर ट्राई के इस काले कानून से देशभर के लाखों केबल आॅपरेटर्स का काम-धंधे पर संकट खड़ा हो जाएगा। इसके साथ ही आम उपभोक्ताओं को भी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ेगा। उपभोक्ताओं को टीवी देखने के लिए ढाई से तीन गुना दाम चुकाने होंगे।

प्रधानमंत्री को भेजा ज्ञापन

केबल आॅपरेटर्स की ओर से गुरूवार को ट्राई के एमआरपी लागू करने के आदेशों के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन भेजा गया। ज्ञापन में उपभोक्ताओं पर आर्थिक बोझ बढ़ने और केबल आॅपरेटर्स के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा होने का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री से ट्राई पर नए आदेशों को वापस लेने का दबाव बनाने की मांग की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here