दलित युवक की हत्या के मामलें का मुख्य आरोपी गिरफ्तार

0
1518

बाड़मेर

राजस्थान के सीमावर्ती बाड़मेर जिले के रामसर थानान्तर्गत भाजपा नेता और दलित युवक की पीट-पीट कर हत्या किए जाने के मामलें में पुलिस ने बुधवार मुख्य आरोपी अमरखान को गिरफ्तार किया। पुलिस इस मामलें में दो आरोपियों को पूर्व में ही गिरफ्तार कर चुकी है, जो अभी पुलिस रिमाण्ड पर है।

गौरतलब है कि घटना के दिन ही मृतक के परिवारजनों की रिपोर्ट और प्रांरभिक जांच के आधार पर पुलिस ने कुछ महिलाएं सहित करीब 9 लोगों को हिरासत में लिया था।

जांच के दौरान मंगलवार को दो आरोपियों पठाई खान और अनवर खान को गिरफ्तार किया था। घटना का मुख्य आरोपी अमरखान घटना के बाद से ही फरार था, जिसके लिए पुलिस टीमों को गठन का उसकी तलाश की जा रही थी। बुधवार को पुलिस ने सीमावर्ती गांवों से अमरखान को गिरफ्तार किया।

बाड़मेर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामेश्वरलाल मेघवाल ने बताया कि मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद न्यायालय में पेश कर रिमांड मांगा जाएगा। गौरतलब है कि 21 जुलाई को रामसर थानें के मेकरनवाला गांव में एक 22 वर्षीय दलित युवक की पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी थी। पुलिस जांच के दौरान घटना के पीछे प्रेम प्रसंग का मामला सामने आया है।

पुलिस के मुताबिक प्रारभिंक पुलिस जांच के दौरान यह सुनियोजित हत्‍या का मामला लग रहा है। उन्‍होनें बताया कि दो आरोपियों की गिरफतारी के साथ ही पुलिस शेष आरोपियों की शीघ्र गिरफतारी के प्रयास कर रही है। उन्‍होनें बताया कि जांच में सामनें आया है कि घटना से पहले आरोपियों के बीच फोन पर बातचीत हुई थी। उन्‍होनें कहा कि पुलिस कॉल डिटेल का इंतजार कर रही है, जिसके आधार पर पूरे मामलें का खुलासा हो सकेगा।

इस बीच पुलिस ने आरोपियों के घर से मृतक की घड़ी और चप्‍पल बरामद किए गए है। अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक रामेश्‍वरलाल मेघवाल ने बताया कि जांच में सामनें आ रहे तथ्‍य घटना के पीछे प्रेम प्रंसग के कारण इंगित कर रहे है।

मृतक के बीवी है गर्भवती, तीन मासूमों से उठा पिता का साया

बताया गया कि मृतक खेताराम भील की शादी करीब सात वर्ष पूर्व हुई थी और उसके तीन बच्‍चें है- दो लड़किया और एक लड़का। मृतक की पत्‍नी गर्भवती है। इसके अलावा मृतक के परिवार में उसके माता-पिता भी है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने लिखा ट्वीटर पर 

इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री अषोक गहलोत ने युवक की हत्या के मामलें को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। सोषल मीडिया एंकाउट ट्वीटर पर गहलोत ने लिखा कि समाज में घटित हो रहे ऐसे मामले रोके जाने चाहिए। गहलोत ने इस मामलें को मोब लिचिंग बताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here