अरविन्द विश्नोई बने ‘मिस्टर डेजर्ट‘ तो ज्योति सुथार बनी ‘मिस मूमल’

0
347

जैसलमेर।

मरू महोत्सव 2019 के प्रथम दिवस रविवार को जैसलमेर के शहीद पूनम सिंह स्टेडियम में आयोजित सर्वाधिक प्रतिष्ठापूर्ण मरु श्री प्रतियोगिता में खेतोलाई निवासी अरविन्द विश्नोई को मिस्टरडेजर्ट-2019 घोषित किया गया। वहीं जैसलमेर सुथार पाडा निवासी सुश्री ज्योति सुथार को मिस मूमल-2019 का ताज हासिल हुआ।

तीन दिवसीय मरू महोत्सव के प्रथम दिवस आयोजित मि

स्टर डेजर्ट प्रतियोगिता में प्रतिभागियों की राजस्थानी परम्परागत वेषभूषा, शारीरिक सौन्दर्य, कदकाठी के आधार पर सभी संभागियों में से निर्णायक मण्डल द्वारा अरविन्द विष्नोई का मिस्टर डेजर्ट के लिए चयन किया गया। अरविन्द बताया कि बताया कि वह पिछले 1 वर्ष से इस प्रतियोगिता के लिए तैयारी कर रहा था आज का क्षण आया की उसने यह खिताब पाया है। मरू श्री विजेता रहने पर अरविन्द को उनके शुभ चिंतको ने हार्दिक बधाई दी। निर्णायक मण्डल में भारतीय सेना के मेजर जनरल ए0 कपूर, सीमा सुरक्षा बल के उप महानिरीक्षण राजेश कुमार, उप वन संरक्षक आशुतोश ओझा थें। मरूश्री 2019 अरविन्द विश्नोई को पूर्व मरू श्री 2018 मनीष रामदेव ने मरू श्री का ताज पहनाया। वहीं जिला कलक्टर नमित मेहता एवं पुलिस अधीक्षक डॉ.किरण कंग ने ट्रॉफी एवं प्रमाण पत्र प्रदान किया व मरूश्री बनने पर हार्दिक बधाई दी।

ज्योति सुथार को मिस ममूल का खिताब

मरु महोत्सव की दूसरी प्रतिष्ठापूर्ण प्रतियोगिता मिस मूमल – 2019 का खिताब जैसलमेर के सुथार पाडा की ज्योति सुथार ने जीता। मिस मूमल प्रतियोगिता में 13 बालिकाओें ने पारम्परिक जैसलमेरी पोषाक, झिलमिलाते आभूषण से सुसज्जित होकर भाग लिया। निर्णायक मण्डल द्वारा मूम

ल के रुप में सौन्दर्य एवं वस्त्राभूषण की नख से सिर तक परख करने के पश्चात् ज्योति सुथार को मिस मूमल 2019 के लिए चयनित किया गया। मिस मूमल 2019 ज्योति सुथार को पूर्व मिस मूमल वर्षा पंवार-2018 ने मिस मूमल 2019 का खिताब पहनाया एवं अपनी ओर से हार्दिक बधाई दी। वहीं जिला कलक्टर नमित मेहता व पुलिस अधीक्षक डॉ.किरण कंग ने मिस मूमल को ट्रॉफी एवं प्रमाण पत्र प्रदान किया। मिस मूमल विजेता रही ज्योति सुथार ने बताया कि पिछले 1 साल से वे इस प्रतियोगिता के लिए तैयारी कर रही थी एवं मुझे मिस मूमल का खिताब मिलने पर मै बहुत खुष हूं।

 

साफा बांध प्रतियोगिता

मरु महोत्सव के प्रथम दिवस को साफा बांध प्रतियोगिता आयोजित हुई। इस प्रतियोगिताओं में छूगे खान ने दो मिनट में साफा बांध कर पहला स्थान अर्जित किया। साफा बांध में सवाईसिंह तंवर ने द्वितीय एवं जीवनपालसिंह तथा निखिल छंगाणी ने तृतीय स्थान अर्जित किया।

 

विदेषी प्रतिभागियों की साफा बांध प्रतियोगिता आयो

 

जित हुई। जिन विदेषी मेहमानो ने कभी अपने सिर पर साफा नही बांधा उन्होंने भी इस प्रतियोगिता में उत्साह दिखाक

 

र जैसे तैसे साफा बांधा। इस प्रतियोगिता में चिली के जेवियर ने अपने सिर पर सुव्यवस्थित ढंग से साफा बांध कर प्रथम स्थान प्राप्त किया वहीं स्पेन के ओषे तथा जर्मनी के पैट्रिक हेज तृतीय स्थान पर रहें। विदेषी सैलानियों ने अपने सर पर साफा बांधकर सभी दर्षको को अचम्भित सा कर दिया एवं सभी दर्षक इन विदेषी मेहमानो द्वारा बांधे जा रहे साफे को देखकर हसी से खिल उठे।

ये रहे मूंछ प्रतियोगिता के विजेता

मूंछ प्रतियोगिता में राहुल थानवी ने प्रथम स्थान अर्जित किया। वहीं दूसरे स्थान पर षिवरतन व्यास तथा तीसरे स्थान पर ओमप्रकाष वैष्णव रहे।

महेन्द्रा – मूमल की प्रेम गाथा की झांकी

मरु महोत्सव मे मूमल महेन्द्रा की प्रेम गाथा भी झलकी। देषी व विदेषी सैलानी इस प्रेम गाथ की कहानी से रुबरु हुए। मूमल – महेन्द्रा प्रतियोगिता में प्रतिभागी ऊंठ गाडे पर सजी मेडी मं बैठी मूमल व सजे – धजे रेगिस्तानी जहाज ऊंठ पर बैठे महेन्द्रा ने दर्षकों को बहुत आकर्षित किया। इस प्रतियोगिता में निर्णायको द्वारा दिये गए निर्णय के अनुसार मॉन्टेंसरी बाल निकेतन उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्रतिभागी प्रथम विजेता रहें। वही इमानुअल मिषन स्कूल उच्च माध्यमिक के प्रतिभागी द्वितीय एवं एयरफोर्स स्कूल के प्रतिभागी तृतीय स्थान पर रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here