रामसर एसबीआई बैंक प्रबंधक के खिलाफ पुलिस में धोखाधड़ी का मामला दर्ज

14 जुलाई 2018 को प्रबंधक धनंजय कुमार का फतेहगढ़ से शाखा रामसर में हुआ तबादला, उसी दिन प्रबंधक ने किया घोटाला

0
160
file photo

बाड़मेर

एसबीआई की शाखा रामसर में 26 लाख रुपए गबन का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। बैंक मैनेजर ने ही बैंक से 26.49 लाख रुपए अपनी मां,ड्राइवर व रिश्तेदार के बैंक खातों में ट्रांसफर कर दिया। चौंकाने वाली बात यह है कि प्रबंधक ने 14 जुलाई को पदभार ग्रहण किया और उसी दिन ही बैंक के आंतरिक खाते से राशि हड़प ली। एसबीआई की स्पेशल टीम की जांच में घोटाले का खुलासा हुआ। इसके बाद बैंक प्रशासन ने प्रबंधक के खिलाफ पुलिस थाना रामसर में गबन का मामला दर्ज करवाया है। इसके बाद प्रबंधक समेत पूरे बैंक स्टाफ को हटा दिया। एसबीआई ने 14 जुलाई 2018 को शाखा रामसर में प्रबंधक धनंजय कुमार को नियुक्त किया। प्रबंधक ने पदभार संभालने की दिन ही बैंक के आंतरिक खाता बीजीसी 49834431491 से 26 लाख 49 हजार 857 रुपए ट्रांसफर कर दिए। रिपोर्ट के अनुसार प्रबंधक ने अपनी मां अन्नपूर्णादेवी पत्नी बृजप्रसाद के बैंक खाता नं. 61342174893 में 5,75,000 रुपए ट्रांसफर किए। प्रबंधक के गाड़ी ड्राइवर फतेहगढ़ के रेवड़ी निवासी राजेंद्रसिंह पुत्र बाबूलाल के बैंक खाता नं. 61317890400 में 475000,525000,575000 रुपए डाल दिए। रिश्तेदार रेखाराव पत्नी शिवशंकर के बैंक खाता नं. 61138103325 में 499857 रुपए ट्रांसफर किए। इस तरह 26 लाख 49 हजार 857 रुपए डाले गए।

बैंक प्रबंधक के खिलाफ पुलिस में धोखाधड़ी का मामला दर्ज

एसबीआई की ओर से पुलिस थाना रामसर में बैंक प्रबंधक धनंजय कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया गया। बैंक मैनेजर संदीप कुमार ने मामला दर्ज करवाया कि 17 जुलाई 2018 को विभागीय जांच में पता चला कि शाखा प्रबंधक धनंजय कुमार ने 14 जुलाई 2018 को जान बुझकर बैंक को नुकसान पहुंचाने की नियत से मूल्यवान प्रतिभूति का बैंक के आंतरिक खाता से कूटरचना करते हुए रिश्तेदारों व मित्र के खाता में ट्रांसफर कर 2649857 रुपए का गबन हुआ है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

फतेहगढ़ शाखा में गंभीर अनियमितताएं, जांच शुरू

एसबीआई शाखा फतेहगढ़ में प्रबंधक धनंजय कुमार दो साल तक कार्यरत रहा। गाड़ी ड्राइवर व दलाल राजेंद्रसिंह के माध्यम से उपभोक्ताओं से ऋण स्वीकृत करने की एवज में 20 से 30 प्रतिशत कमीशन वसूला गया। इस मामले को एसबीआई प्रशासन ने गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू की है।

 

यह कहना है अधिकारियो का

एसबीआई शाखा रामसर में प्रबंधक की ओर से राशि हस्तांतरित करने का मामला सामने आया है। इस संबंध में पुलिस थाना रामसर में प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी है।

-आर.सी. मीणा, एजीएम, एसबीआई

एसबीआई प्रशासन की और से प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है। इसकी जांच कर कार्रवाई की जा रही है।

-विक्रम सांदू, थानाधिकारी रामसर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here