टोल कंपनी ने हाथ खींचे, पीडब्ल्यूडी असमंजस में

0
745

शहरकी रोड तीन नंबर कहने को तो पिलानी- सीकर स्टेट हाइवे है। यह बरसों से टूटी पड़ी है। गुढ़ा मोड़ से लेकर अग्रसेन सर्किल तक इस सड़क की हालत इतनी खराब है कि ये गड्‌ढों में तब्दील हो चुकी है। मजे की बात यह है कि पूरी तरह गड्‌ढों में तब्दील इस सड़क का कोई धणी धोरी नहीं है। इसकी वजह यह है कि सड़क पीडब्ल्यूडी की है, लेकिन इसका कुछ हिस्सा नगर परिषद क्षेत्र में आता है। पीडब्ल्यूडी ने इससे बीओटी में दे रखा है। ढाई साल पहले आरयूआईडीपी ने शहर में सीवरेज लाइन डालने के लिए सड़क किनारे गड्‌ढे खोदकर पाइप लाइन चेंबर बनाए थे। तब टूटी हुई सड़क के एवज में आरयूआईडीपी ने पीडब्ल्यूडी को राशि जमा कराई थी।

दो साल पहले नवंबर 2014 में पीडब्ल्यूडी ने करीब 70 लाख रुपए खर्च कर गुढ़ा मोड़ से अग्रसेन सर्किल तक सड़क का रीकार्पेट कराया था। बरसाती पानी वाहनों के बढ़ती संख्या के कारण यह सड़क कुछ समय बाद ही टूट गई थी। तब से लेकर आज तक यह सड़क टूटी हुई है। कुछ समय पहले पीडब्ल्यूडी ने सड़क को ठीक करने के लिए बीओटी कंपनी को निर्देश दिए थे। तब कंपनी ने इसके टूटने का कारण सीवरेज बताते हुए आरयूआईडीपी से ही इसकी मरम्मत कराने की बात कहकर पल्ला झाड़ लिया। आरयूआईडीपी ने यह कहकर मरम्मत कराने से मना कर दिया कि उन्होंने सड़क किनारे पाइप डाले हैं। हालांकि पिछले माह से सड़क पर अब टोल भी बंद हो गया है। ऐसी स्थिति में अभी तक यह तय नहीं है कि सड़क की रिपेयरिंग कौन करेगा।

सड़क सुधारने के लिए टोल कंपनी को नोटिस

पीडब्लूडीने लोहारू- सीकर बीओटी रोड को दुरुस्त कर सरकार को सुपुर्द करने के लिए टोल कंपनी संचालक को नोटिस दिए है। पीडब्लूडी एसई रामनारायण चौधरी ने बताया कि टोल कंपनी मैसर्स आरसीसीएल इंफ्रास्ट्रक्चर के संचालक को दिए नोटिस में 10 दिन में सड़क को अच्छी कंडीशन में तैयार कर पीडब्लूडी को सौंपने को कहा है। बीओटी सड़क को ठीक करने के लिए टोल कंपनी को दो बार पहले भी नोटिस दिए जा चुके हैं।

आगेक्या : सूत्रोंकी माने तो बीओटी कंपनी यदि इस सड़क को ठीक नहीं करवाती है तो पीडब्लूडी इस सड़क को ठीक करवाकर टोल कंपनी से यह राशि वसूल कर सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here