मुमुक्षु लोकेश गोलछा के दीक्षा की पत्रिका का हुआ लेखन मुहुर्त

0
372
बाड़मेर
जिले चौहटन नगर के समीप उदीयमान हो रहे लब्धिनिधान पार्श्वनाथ-मणिधारी तीर्थ, ढोक में आगामी 9 नवम्बर से आयोजित होने वाले मुमुक्षु लोकेश गोलछा की दीक्षा महोत्सव की पत्रिका का आज विमोचन किया गया।
लब्धिनिधान तीर्थ के संयोजक मांगीलाल डोसी ने बताया कि खरतरगच्छाचार्य जिनपीयूषसागर सुरीश्वर म.सा. आदि साधु-साध्वीवृंद की निश्रा में गुरूवार को स्थानीय गडरा रोड़ पीरचंद हंजारीमल वडेरा भवन में दीक्षा पत्रिका केसर छांटणा करके सर्वप्रथम तीर्थाधिपति भाग्यवर्धन पाश्र्वनाथ भगवान के नाम से पत्रिका लिखी गई तथा उसके भारत वर्ष के समस्त जैन संघों के नाम से पत्रिका का लेखन कर उन्हें इस दीक्षा प्रसंग पर पधारने का आमंत्रण दिया गया।
दीक्षा निमिŸा संवेगरंगोत्सव का आगाज 9 नवम्बर सेे
मुमुक्षु लोकेश गोलच्छा का मुख्य दीक्षा समारोह 15 नवम्बर को आचार्य जिनपीयूषसागर सूरीश्वर महाराज आदि ठाणा 5 की पावन निश्रा एवं मुनिराज कमलप्रभसागर महाराज आदि ठाणा 5, साध्वी सुरंजनाश्री आदि ठाणा-5, साध्वी भव्यगुणाश्री आदि ठाणा-3, साध्वी प्रगुणाश्री आदि ठाणा-3 के पावन सानिध्य में 15 नवम्बर को श्री लब्धिनिधान पाश्र्वनाथ तीर्थ, चौहटन में सम्पन्न होगा। दीक्षा के निमित 5 दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
जिसके अन्तर्गत प्रथम दिवस 9 नवम्बर को प्रातः 8.36 बजे पूज्य आचार्य भगवंत व साधु-साध्वीवृंद का चैहटन नगर में अनूठा नगर प्रवेश, द्वितीय दिवस 10 नवम्बर को प्रातः 9.15 बजे पाट बिठाई तत्पश्चात् डोरा बंधन, कपड़ें रंगना एवं रात्रि में भक्ति भावना का कार्यक्रम होगा। तृतीय दिवस 11 नवम्बर को प्रातः 7.36 बजे स्नात्र महोत्सव, वैराग्यमय प्रवचन व रात्रि में भक्ति व सांस्कृति कार्यक्रम होगें।, चतुर्थ दिवस 12 नवम्बर को प्रातः 7.36 बजे सामुहिक स्नात्र महोत्सव, वैराग्यमय प्रवचन व रात्रि में 7.45 बजे ममत्व से समत्व भव्य नाटिका मंचन की वीतराग संस्कार वाटिका चैहटन द्वारा प्रस्तुति दी जायेगी। पंचम दिवस 13 नवम्बर को प्रातः 9.18 बजे मालाणी क्षेत्र में सर्वप्रथम बार शक्रस्तव महाभिषेक होगा जिसमें हर्षवर्धनभाई गुरूजी मुम्बई द्वारा संवेदना व हिरनेभाई व्यास द्वारा संगीत की प्रस्तुति दी जायेगी, इसी दिन मुमुक्षु लोकेश गोलछा के जन्मदिवस के उपलक्ष में कोठारी परिवार जबलपुर द्वारा स्वधर्मी वात्सल्य का लाभ लिया गया है। सांय 4.36 बजे छाब भरना, 6.45 बजे मेंहदी वितरण, संयम सांझी  व रात्रि में 8 बजे आओ करे अपनों से अपनी बात रिश्तों की महक- मातृ-पितृ वंदनावली का भव्य कार्यक्रम की प्रस्तुति साकतेभाई शाह मुम्बई व अल्पेशभाई पादरा द्वारा दी जायेगी।
षष्ठम दिवस 14 नचम्बर को प्रातः 9 बजे मुमुक्ष लोकेश गोलछा का अद्भूत अलौकिक, अद्वितीय वर्षीदान रथयात्रा निकलेगी जिसमें विभिन्न झांकियां, रंगलियों, नृत्य करते कलाकार आदि आकर्षण के केन्द्र रहेगें। दोपहर 2.36 बजे पापों की पहचान…. अठारह पापस्थानक की संवेदना की प्रस्तुति साकेतभाई द्वारा दी जायेगी। रात्रि में 8 बजे मुमुक्ष लोकेश का अभिनंदन एवं संसार से संयम पथ पर जाने के लिए विदाई मार्मिक कार्यक्रम एक शाम संयम के नाम-संयम संवेदना की प्रस्तुति हर्षवदनभाई एवं संगीत पर केतनभाई कोलकाता द्वारा दी जायेगी। सप्तम दिवस 15 नवम्बर को प्रातः 8 बजे मुमुक्षु द्वारा अरिहंत परमात्मा की विशिष्ट स्नात्र पूजा, लापसी लुटाना तथा उसके पश्चात् महाभिनिष्क्रमण की यात्रा प्रारम्भ होगी एवं 8.36 बजे दीक्षा का मंगल विधान प्रारंभ होगा।  11.36 बजे तीर्थ धर्मशाला का शिलान्यास व दोपहर में 2.45 बजे दादा गुरूदेव महापूजन व शाम को 4.15 बजे नूतन दीक्षार्थी का प्रथम विहार होगा।
 पत्रिका लेखन मूहूर्त के इस अवसर पर जैनश्रीसंघ बाड़मेर अध्यक्ष सम्पतराज बोथरा, पारसमल धारीवाल(रामजी का गोल), मांगीलाल जी डोशी, रतनलाल बोथरा, रिखबदास बोथरा, बाबूलाल धारीवाल(रामा), कुश्टमल डोसी, बाबूलाल धारीवाल, भंवरलाल डोशी, प्रकाश बोथरा, पारसमल सेठिया, संपतराज वडेरा, दिनेश सेठिया, हंसराज बोथरा, सहित समाज के गणमान्य श्रावकगण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here